हुनर हाट 2024 – Hunar Haat Application Form, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

हुनर हाट 2024 | Hunar Haat Application Form | हुनर हाट ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | Hunar Haat ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन | Hunar Haat Application Form, Online Registration

Hunar Haat Application Form:- प्राचीन काल से, भारत को विभिन्न प्रकार की क्षमताओं से नवाजा गया है, और इसके प्रत्येक राज्य की एक अनूठी संस्कृति है। इस कार्यक्रम के माध्यम से देश के शिल्पकार हाथ से बनी देशी वस्तुओं की बिक्री करेंगे और देश के सभी निवासी अपने विभिन्न राज्यों में स्थापित हुनर हाट में उन्हें खरीद सकेंगे। केंद्र सरकार ने देश के अल्पसंख्यक पारंपरिक शिल्पकारों, कारीगरों और कारीगरों द्वारा उत्पादित वस्तुओं के लिए अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त करने के लिए हुनर हाट नामक एक कार्यक्रम शुरू किया है। इस लेख में हमने आपको हुनर हाट 2024 से संबंधित सभी जानकारी जैसे -लाभ तथा विशेषताएं , उद्देश्य ,आवेदन प्रक्रिया  संबंधित सभी जानकारी देने वाले है। हमारा आपसे अनुरोध है कि हमारे इस लेख को पूरा पढ़े।

हुनर हाट 2024

अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय, भारत सरकार ने इस पहल की शुरुआत की। प्रधान मंत्री मोदी ने अपने भाषणों में लोगों से “स्थानीय के लिए वोट” करने का आग्रह किया है, जिसका अर्थ है कि हमें अपने देश में बने सामानों को वैश्विक स्तर पर प्रदर्शित करना चाहिए ताकि इसके सभी निवासी इसके इतिहास और संस्कृति को बेहतर ढंग से समझ सकें। केंद्र सरकार ने अल्पसंख्यक पारंपरिक शिल्पकारों, कारीगरों और कारीगरों द्वारा पूरे देश में उत्पादित वस्तुओं को मान्यता देने के लिए हुनर हाट 2024 की शुरुआत की है।

हुनर हाट 2024

Also Read :- PM Kisan 13th Installment Date 2024, कब आएगी Release Date Beneficiary List, eKYC

केंद्र सरकार ने विदेशों में देश के अल्पसंख्यक पारंपरिक शिल्पकारों और कारीगरों द्वारा उत्पादित वस्तुओं को एक अद्वितीय चरित्र प्रदान करने के लिए Hunar Haat Application Form 2024 की शुरुआत की है। इस स्वदेशी पहल से देश के निवासी वहां बना सामान खरीद सकेंगे। पारंपरिक शिल्पकारों और कारीगरों को उनके द्वारा उत्पादित वस्तुओं को बेचने के लिए एक व्यापक स्थान दिया जायेगा। 

Overview of Hunar Haat Application Form

योजना का नामहुनर हाट 2024
आरम्भ की गईअल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ने
वर्ष2024
लाभार्थीदेश के सभी कारीगर
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन 
उद्देश्यस्वदेशी वस्तुओं का प्रचार-प्रसार एवं संरक्षण करना 
लाभस्वदेशी वस्तुओं का प्रचार-प्रसार एवं संरक्षण किया जाएगा
श्रेणीसरकारी योजनाएं 
आधिकारिक वेबसाइटhunarhaat.org

हुनर हाट के उद्देश्य

  • कारीगरों, बुनकरों और अन्य शिल्पकारों के कौशल विकास में सहायता करना जो अपने पारंपरिक पैतृक शिल्प पर काम कर रहे हैं।
  • पारंपरिक शिल्पकारों और कारीगरों को उनके द्वारा उत्पादित वस्तुओं को बेचने के लिए एक व्यापक स्थान दिया जायेगा।
  • शिल्पकारों, कलाकारों और कारीगरों को एक ऐसा स्थान देना जहाँ वे अपनी प्रतिभा प्रदर्शित किया जायेगा।
  • जातीय कारीगरों, बुनकरों और शिल्पकारों के लिए काम दिया जायेगा। 
  • पारंपरिक कलाओं का बड़े पैमाने पर प्रचार इस Hunar Haat के माध्यम से दिया जायेगा। 
  • कलाकारों, बुनकरों और शिल्पकारों की वित्तीय जरूरतों का समर्थन दिया जायेगा ।
  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर राष्ट्र के अलग-अलग क्षेत्रों के शिल्पकारों और कारीगरों की पारंपरिक, पूर्वज-शैली की कृतियों को बढ़ावा दिया जायेगा।

Hunar Haat लाभ एवं विशेषताएं

  • केंद्र सरकार ने विदेशों में देश के अल्पसंख्यक पारंपरिक शिल्पकारों और कारीगरों द्वारा उत्पादित वस्तुओं को एक अद्वितीय चरित्र प्रदान करने के लिए हुनर हाट 2024 की शुरुआत की है ।
  • इस पहल के माध्यम से, आप अविश्वसनीय रूप से सस्ती कीमतों पर स्थानीय कलाकारों द्वारा निर्मित देशी दस्तकारी के सामान प्राप्त कर सकते हैं।
  • इसके अलावा, इस पहल के माध्यम से देश की उन पुरानी धरोहरों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है, जो विनाश के कगार पर हैं।
  • इसके अलावा Hunar Haat 2024 में जो भी खरीदारी करना चाहता है वह ऑनलाइन कर सकता है।

देश में अभी तक हुए हुनर हाट कार्यक्रमों की सूची –

क्रम
संख्या
(Serial

Number)
हुनर हाट कार्यक्रम (Hunar Haat Events)Date of Event’sस्थान(Venue)कार्यक्रम के बारे में (About Event’s)
1पहला संस्करण14-November-2016 से
27-November-2016 तक
IITF Pragati Maidan, Delhiतत्कालीन केंद्रीय बिजली और कोयला राज्य मंत्री
श्री पीयूष गोयल तथा केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी और
विदेश राज्यमंत्री के श्री एम जे अकबर जी के द्वारा 15 नवंबर 2016 को देश के पहले “हुनर हाट” का उद्घाटन किया गया। जिसमें देश के विभिन्न प्रांतों से आये 184 मास्टर कारीगरों ने अपनी कला का प्रदर्शन किया।
2दूसरा संस्करण11-फरवरी-2017 से
26-फरवरी-2017 तक
बीकेएस मार्ग, दिल्ली“शिल्प और व्यंजन का संगम” थीम के साथ देश के दूसरे हुनर हाट कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें देशी हस्तशिल्प और पारंपरिक व्यंजनों का प्रदर्शन किया इस कार्यक्रम में देशी और विदेशी आगंतुकों(visitors) को मिलाकर लगभग 26 लाख लोगों ने इस कार्यक्रम का लुत्फ़ उठाया।
3तीसरा संस्करण24-सितंबर-2017 से
30-सितंबर-2017 तक
पुडुचेरीहुनर हाट के तीसरे संस्करण में पुंडुचेरी में देश के 16 राज्यों से आये हस्तशिल्प और हथकरघा कारीगरों ने हस्तनिर्मित पेंटिंग, लकड़ी के खिलौने , मुद्रित कपड़े और माहेश्वरी साड़ी इत्यादि वस्तुओं का प्रदर्शन किया।
4चौथा
संस्करण
14-नवंबर-2017 से
27-नवंबर-2017 तक
आईआईटीएफ प्रगति मैदान, दिल्लीहुनर हाट के चौथे संस्करण में दिल्ली में देश के 20 राज्यों से आये 120 मास्टर कारीगरों ने भाग लिया जिसमें से 30 महिला कारीगर थीं। इस चौथे संस्करण में बेकरी आइटम, जैविक तेल, मसाले और अनाज शामिल थे
5पाँचवा संस्करण04-जनवरी-2018 से
10-जनवरी-2018 तक
मुंबई, इस्लाम जिमखाना, महाराष्ट्रहुनर हाट के पांचवे संस्करण में वाराणसी के ब्रोकेड, लखनऊ चिकन वर्क, यूपी से जरी जरदोजी, खुर्जा सिरेमिक उत्पाद ,मिट्टी के सामान, ब्लैकस्टोन मिट्टी के बर्तन, सूखे फूल और उत्तर-पूर्व के पारंपरिक हस्तशिल्प
कश्मीर के शॉल, कालीन और पेपरमाची इत्यादि वस्तुओं का प्रदर्शन किया गया।
6छठा
संस्करण
10-फरवरी-2018 से
18-फरवरी-2018 तक
बीकेएस मार्ग, कनॉट प्लेस, दिल्लीहुनर हाट के छठे संस्करण में बड़ी संख्या में 12 राज्यों से आये पाक विशेषज्ञों(culinary experts) ने भाग लिया। हुनर हाट के इस संस्करण में पाक विशेषज्ञों में बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल थीं।
7सातवां
संस्करण
08-सितंबर-2018 से
16-सितंबर-2018 तक
प्रयागराज, उत्तर प्रदेशहुनर हाट के सातवे संस्करण में बेंत और बांस,
असम के जूट उत्पाद, झारखंड के टसर गीजा सिल्क और भागलपुर के लिनन, पारंपरिक आभूषण, लाख और पत्थर से जड़े चूड़ियां और आभूषण का प्रदर्शन किया गया।
8आठंवा
संस्करण
13-अक्टूबर-2018 से
21-अक्टूबर-2018 तक
गांधी थिडल बीच, पुडुचेरीअजरख, अप्लीक, लिनन साड़ी/ड्रेस मटेरियल, बाग प्रिंट, बनारसी साड़ी, भागलपुर सिल्क, बाटिक प्रिंट, चंदेरी, कॉपरवेयर,ड्राई फ्लावर, गोल्डन ग्रास प्रोडक्ट्स, हैदराबादी पर्ल, इमिटेशन ज्वैलरी, जयपुरी जूती जैसे हैंडीक्राफ्ट और हैंडलूम वर्क के बेहतरीन पीस आदि सामानों का इस संस्करण में प्रदर्शन किया गया।
9नौंवा
संस्करण
14-नवंबर-2018 से
27-नवंबर-2018 तक
आईआईटीएफ प्रगति मैदान, दिल्लीहुनर हाट के नौंवें संस्करण में बड़ी संख्या में महिला कारीगरों सहित महिला मास्टर कारीगरों ने भाग लिया और पहली बार छत्तीसगढ़ के उत्पाद और जम्मू-कश्मीर के नमदा और चिनोन सिल्क का प्रदर्शन किया गया।
10दसवां
संस्करण
21-दिसंबर-2018 से
31-दिसंबर-2018 तक
बांद्रा- कुर्ला कॉम्प्लेक्स, मुंबईइस संस्करण में लोगों के लिए अवधी खाना, राजस्थानी पकावन (दाल बाटी और चूरमा), गुजराती थाली, महाराष्ट्रीयन व्यंजन, मालाबार भोजन और केरल के कटहल के व्यंजन, लिट्टी-चोखा, पानी की मिठाइयाँ जैसे फ़िरनी, शाहीतुकड़ा, हलवा, बंगाली मिठाई, राजकोट की प्रसिद्ध मिठाइयाँ और विभिन्न प्रकार के स्वाद वाले पान ये सभी प्रमुख आकर्षण का केंद्र रहे।
11ग्यारवां संस्करण12-जनवरी-2019 से
20-जनवरी-2019 तक
बीकेएस मार्ग, कनॉट प्लेस, दिल्लीहुनर हाट के इस संस्करण में ओडिशा 
से चांदी के फिलाग्री उत्पाद और छत्तीसगढ़ के बांस शिल्प, मेरठ की कैंची ये सभी वस्तुएं हुनर हाट में आये लोगों द्वारा बहुत पसंद किये गए।
12बरवां
संस्करण
24-अगस्त-2019 से
01-सितंबर-2019 तक
जवाहर कला केंद्र, जयपुर, राजस्थानलोगों ने असम से जूट उत्पाद, झारखंड से रेशम की विविधता वाली वस्तुएं ,भागलपुरी रेशम और लिनन जैसे स्वदेशी हस्तनिर्मित उत्पादों की जमकर खरीदारी की।
13तेरवां
संस्करण
01-नवंबर-2019 से
10-नवंबर-2019 तक
प्रयागराज, उत्तर प्रदेशदेश के अनेक राज्यों से आये महिला कारीगरों सहित 300 से अधिक मास्टर कारीगरों और पाक विशेषज्ञों द्वारा बनाये गए हस्तनिर्मित उत्पादों और पकवानों का प्रदर्शन किया गया ।
14चौदवां
संस्करण
14-नवंबर-2019 से
27-नवंबर-2019 तक
आईआईटीएफ प्रगति मैदान, दिल्लीइस संस्करण में कास्तकारों ने बाटिक,बाग प्रिंट, बंधेज, बाड़मेर एप्लिक, बेंत और बांस, कालीन, चंदेरी, चिकनकारी,कॉपर बेल उत्पाद, ढाकाई सिल्क, गोल्डन जैसे हस्तशिल्प और हथकरघा के उत्कृष्ट उत्पादों का प्रदर्शन किया।
15पन्द्रवां
संस्करण
07-दिसंबर-2019 से
15-दिसंबर-2019 तक
साबरमती रिवर फ्रंट, अहमदाबाद, गुजरातइस संस्करण में केरल के नारियल के खोल उत्पादों को और कर्नाटक से गुलाब की लकड़ी पर लकड़ी की जड़ाई के काम को हुनर हाट में पहली बार शामिल किया गया जो आगंतुकों के लिए एक बड़ा आकर्षण का केंद्र रहा ।
16सोलहवां
संस्करण
20-दिसंबर-2019 से
31-दिसंबर-2019 तक
बांद्रा- कुर्ला कॉम्प्लेक्स, मुंबईइस संस्करण में देश भर से बड़ी संख्या में आये महिला कारीगरों के साथ – साथ लगभग 400 मास्टर कारीगरों और मूर्तिकारों ने भाग लिया । हाट में कारीगरों ने अपने साथ लायी हुई स्वदेशी हस्तनिर्मित कला कृतियों का प्रदर्शन किया।
17सत्रहवां
संस्करण
10-जनवरी-2020 से
21-जनवरी-2020 तक
लखनऊ, उत्तर प्रदेशइस संस्करण में देश भर से बड़ी संख्या में आये लगभग 250 से अधिक मास्टर कारीगरों और नक्काशी का काम करने वालों ने भाग लिया । हाट में नक्काशी कारीगरों ने अपने साथ लायी हुई स्वदेशी हस्तनिर्मित हस्तशिल्प और हथकरघा की कला कृतियों का प्रदर्शन किया।
18अठारवां
संस्करण
11-जनवरी-2020 से
19-जनवरी-2020 तक
हैदराबाद, तेलंगानाहैदराबाद के हुनर हाट के अठारवें संस्करण में आने वाले लोगों ने देश के विभिन्न राज्यों के पारंपरिक स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद लिया।
19उन्नीसवाँ
संस्करण
08-फरवरी-2020 से
16-फरवरी-2020 तक
इंदौर, मध्य प्रदेशइंदौर के हुनर हाट संस्करण में बड़ी संख्या में महिला कारीगर शामिल थीं। जिन्होंने बावर्चीखाने के तहत पारम्परिक पकवानों के स्वाद का परिचय हाट में आये लोगों से करवाया।
20बीसवां
संस्करण
13-फरवरी-2020 से
23-फरवरी-2020 तक
इंडिया गेट लॉन, राजपथ, दिल्लीदिल्ली के इस हुनर हाट के संस्करण में प्रधानमन्त्री मोदी जी ने “कुल्हड़ की चाय” और बिहार के स्वादिष्ट “लिट्टी-चोखा” का आनंद लिया और हाट में आये विभिन्न व्यजनों की बहुत – बहुत सराहना की ।
21इक्कीसवाँ
संस्करण
29-फरवरी-2020 से
08-मार्च-2020 तक
रांची, झारखंडरांची के इस हुनर हाट के संस्करण में शिल्पकार देश की कोने-कोने से आये और झारखंड के मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा जी ने पारम्परिक व्यंजनों का स्वाद लिया।
22बाईसवाँ
संस्करण
11-नवंबर-2020 से
22-नवंबर-2020 तक
दिल्ली हाट, पीतमपुरा, दिल्लीइस संस्करण में सांस्कृतिक कार्यक्रम लोगों के लिए बहुत बड़े आकर्षण का केंद्र रहे।
23तेईसवाँ
संस्करण
18-दिसंबर-2020 से
27-दिसंबर-2020 तक
रामपुर, उत्तर प्रदेश
24चौबीसवाँ
संस्करण
22-जनवरी-2021 से
06 -फरवरी-2021 तक
लखनऊ, उत्तर प्रदेश
25पच्चीसवां
संस्करण
08 -फरवरी-2021 से
14-फरवरी-2021 तक
महाराजा कॉलेज ग्राउंड, केजी कोप्पल, चमराजपुरा, मैसूर, कर्नाटक
26छब्बीसवाँ
संस्करण
20-फरवरी-2021 से
01-मार्च-2021
तक
जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम, नई दिल्ली
27सत्ताईसवाँ
संस्करण
12-मार्च-2021 से
21-मार्च-2021 तक
लाल परेड ग्राउंड, भोपाल, मध्य प्रदेश
28अठाईसवाँ
संस्करण
26-मार्च-2021 से
04-अप्रैल-2021 तक
कला अकादमी, पणजी, गोवा
29उन्तीसवां
संस्करण
16-अक्टूबर-2021 से
25-अक्टूबर-2021 तक
रामपुर, उत्तर प्रदेश
30तीसवां
संस्करण
29-अक्टूबर-2021 से
07-नवंबर-2021 तक
देहरादून, उत्तराखंड
31इक्तीसवाँ
संस्करण
10-नवंबर-2021 से
19-नवंबर-2021 तक
वृंदावन, उत्तर प्रदेश
32बतीसवाँ
संस्करण
12-नवंबर-2021 से
21-नवंबर-2021 तक
लखनऊ, उत्तर प्रदेश
33तैंतीसवाँ
संस्करण
14-नवंबर-2021 से
27-नवंबर-2021 तक
प्रगति मैदान, दिल्ली
34चौंतीसवाँ संस्करण26-नवंबर-2021 से
05-दिसंबर-2021 तक
हैदराबाद, तेलंगाना
35पैंतीसवाँ
संस्करण
10-दिसंबर-2021 से
19-दिसंबर-2021 तक
सूरत, गुजरात

आवश्यक दस्तावेज 

  • आवेदक का आधार कार्ड 
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • पंजीकृत मोबाइल नंबर
  • बैंक खाते का विवरण
  • हस्ताक्षरित एक कैंसिलड चेक

हुनर हाट के तहत ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने की प्रक्रिया

यदि आप इस हुनर हाट योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं, तब हमारे माध्यम से नीचे दिए गए प्रश्नों का पालन कर आसानी से आवेदन कर सकते हैं।

  • हुनर हाट योजना के अंतर्गत आवेदन हेतु सबसे पहले आपको Hunar Haat की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने आधिकारिक वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा। 
  • होम पेज पर आपको मेन्यू के सेक्शन में क्राफ्ट पर्सन के तहत दिए गए रजिस्टर नाओ के विकल्प पर क्लिक कर देना है। 
  • अब आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म आएगा यहां आपको पूछी गई सभी जानकारी का विवरण दर्ज करना होगी। 
  • इसके साथ सभी दस्तावेजों को अपलोड कर प्रीवीव के विकल्प पर क्लिक करना होगा। 
  • अब कैप्चा कोड दर्ज कर सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा। 
  • इस तरह आप Hunar Haat 2024 के तहत आवेदन कर सकते है।

FAQs – Hunar Haat Application Form

हुनर हाट योजना क्या है?

यह एक ऐसी योजना है जिसके तहत भारत सरकार देश के अल्पसंख्यक पारम्परिक शिल्पकारों, कास्तकारों और कारीगरों के द्वारा बनाये गए उत्पादों को दुनियाभर में एक अलग पहचान दिलाएगी।

हुनर हाट का आयोजन कौन सा मंत्रालय करता है?

हुनर हाट का आयोजन अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ने किया है।

हुनर हाट की शुरुआत कब हुई?

इस हुनर हाट की शुरुआत पहली बार वर्ष 2016 में हुई।

हुनर हाट की टैग लाइन क्या है ?

हुनर हाट की टैग लाइन  “स्वदेशी विरासत के ब्रांड एम्बेसडर” है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *